Please use this identifier to cite or link to this item: http://nopr.niscair.res.in/handle/123456789/7983
Title: विलय जैल से पाप्त जिंक ऑक्साइड की तनु फिल्म का अभिलक्षणन और संवेदकों के अनुप्रयोगों में उनकी युक्तियों का महत्व
Authors: बहादुर, हरीश
श्रीवास्तव, ए के
रश्मि
चन्दर, हरीश
बासु, ए
तिवारी, एम के
शर्मा, आर के
सूद, के एन
रामकिशोर
सामन्ता, एस बी
चंदा, सुधीर
Issue Date: Jun-2009
Publisher: CSIR
Abstract: जिंक ऑक्साइड के 25 % विलय का प्रयोग करने पर इसके षटकोणीय आकृति के नैनोकण इच्छित C-अक्ष की दिशा में बनते हैं। चयनित क्षेत्र इलेक्ट्रॉन विवर्तन पैटर्नों ने दिखाया है कि 12.5 विलय के साथ बनी फिल्में 100 और 002 तलों का पदर्शन करती हैं जबकि 25 विलय फिल्मों ने 100, 002, 102 और 201 तलों को उजागर किया है। पकाशसंदीप्ति स्पेक्ट्रा (चित्र 6) ने (ZnO) क़्रिस्टलाणुओं के क्वांटम परिरोधन के अनुरूप षटकोर उत्सर्जन को दिखाया है। 15nm की उच्च ऊर्जा (ब्लू शिफ्ट) की ओर षटकोर उत्सर्जन में परिवर्तन 12.5% विलय का प्रयोग करके निर्मित की गई फिल्म के सूक्ष्मतर (ZnO) कणों के लिए देखा गया है। एक संरचनात्मक गुण सहसंबंध पूरा किया गया है ताकि विविध वृद्धियों को पभावित करने वाली विलय सांदता की क़्रियाविधि को तथा (ZnO) नैनोसंरचनाओं  के फलकीकरण और बाद में उनके संदीप्ति पर पभाव को समझा जा सके। इन परिणामों का अनुप्रयोग नैनोइलेक्ट्रॉनिक दाब वैद्युत संवेदकों में होगा।
Page(s): 79-81
URI: http://hdl.handle.net/123456789/7983
ISSN: 0975-2412 (Online); 0771-7706 (Print)
Appears in Collections:BVAAP Vol.17(1) [June 2009]

Files in This Item:
File Description SizeFormat 
BVAAP 17(1) 79-81.pdf717.35 kBAdobe PDFView/Open


Items in NOPR are protected by copyright, with all rights reserved, unless otherwise indicated.