Please use this identifier to cite or link to this item: http://nopr.niscair.res.in/handle/123456789/11964
Title: मॉस गृह एवं मॉस उद्यान
Authors: नाथ, वीरेन्द्र
बंसल, पूजा
अस्थाना, ए के
Issue Date: Mar-2011
Publisher: निस्केयर- सी एस आई आर, भारत
Abstract: ब्रायोफाइटा भ्रूण बनाने वाले पौधों (एम्ब्रियोफाइटा) का सबसे साधारण व आद्य समूह है। पादप वर्गीकरण में इसका स्थान शैवाल व टेरिडोफाइट्स के मध्य होता है। इसके अन्तर्गत हरितोदिभिद की लगभग 14,500 प्रजातियां आती हैं जबकि भारत में लगभग 850 लिवरवर्ट, 40 हॉर्नवर्ट और लगभग 1600 मॉस की प्रजातियां पायी जाती हैं। यह मैदानों में समुद्रतल से 1000-3000 मी. की ऊंचाई वाले शीतोष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों में पाये जाते हैं। ये पौधे प्राय: छोटे और सर्वव्यापी होते हैं। इनमें संवहन ऊतक का अभाव होता है। अधिकतर ब्रायोफाइट्स स्थलीय होते हैं, परन्तु कुछ जातियां जैसे रिक्सिया फ्ल्यूटेंस, रिक्सियोकार्पस प्रजाति, राइला प्रजाति आदि जल में भी पायी जाती हैं। ये प्रायः छायादार, नम स्थानों व नम दीवारों, नम भूमि, लकड़ी के लट्ठों, नदी व तालाब के किनारे के पेड़ों, तनों तथा नम चट्टानों पर पाये जाते हैं। क्योंकि ये पौधे प्रायः जलीय एवं स्थलीय दोनों प्रकार के वातावरण में उग सकते हैं इसलिए उन्हें एम्फीबिया वर्ग के समतुल्य माना जाता है।
Page(s): 35-37
URI: http://hdl.handle.net/123456789/11964
ISSN: 0042-6075
Appears in Collections:VP Vol.60(03) [March 2011]

Files in This Item:
File Description SizeFormat 
VP 60(3) 35-37.pdf274.98 kBAdobe PDFView/Open    Request a copy


Items in NOPR are protected by copyright, with all rights reserved, unless otherwise indicated.